UNCATEGORIZED

जातिवाद के बजाय राष्ट्रवाद अपनाए सरकार —आर के पाण्डेय।,रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

जातिवादी सोच विनाशकारी।

सरकार बताए कि उसने नागरिकों को निःशुल्क एक समान उत्तम शिक्षा, चिकित्सा, सुरक्षा की व्यवस्था क्यों नही की?

मुम्बई पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट के अनुसार हिंदुस्तान की सबसे भयावह समस्या स्वयं सरकारों की जातिवादी सोच है।

जानकारी के अनुसार मुम्बई प्रवास के प्रथम दिन उत्तर भारतीयों को जागरूक करते हुए पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट ने उन्हें सभी जाति-वर्ग-धर्म के लोगों के साथ सामंजस्य के साथ रहने हेतु प्रेरित किया। इस अवसर पर हाई कोर्ट इलाहाबाद के अधिवक्ता आर के पाण्डेय ने कहा कि आजाद हिंदुस्तान की सबसे भयावह समस्य स्वयं सरकारों की जातिवादी सोच है। विगत 74 वर्षों में सभी सरकारों ने दलित, ओबीसी, अल्पसंख्यक आदि के नाम पर सीधे जातिवादी रणनीति अपनाई जबकि देश की सभी योजनाओं का लाभ प्रत्येक जरूरतमंद नागरिक को मिलना चाहिए। आर के पाण्डेय ने राज्य व केंद्र सरकारों को चुनौती देते हुए पूछा कि वह सभी नागरिकों को निःशुल्क उत्तम शिक्षा, चिकित्सा व सुरक्षा क्यों नही दे सकीं?

बता दें कि राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिकों के मात्र 01ईंट 01रु9 व आस्थानुसार यथोचित योगदान से पीडब्ल्यूएस परिवार श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या परिक्षेत्र के गोरसरा शुक्ल (बस्ती) में ऐसे देवालय-शिक्षालय की स्थापना हेतु आगामी पावन पर्व श्रीराम नवमी 21 अप्रैल 2021 को भूमिपूजन-शिलान्यास करने जा रहा है जिसका उद्देश्य निर्धन बेसहारा परिवारों को समुचित सहायता व उनके बच्चों को पूर्णतया निःशुल्क उत्तम शिक्षा उपलब्ध कराना है।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close