UNCATEGORIZED

वंशवादी अजगरी शिकंजे में लोकतंत्र

कलयुग की कलम

वंशवादी अजगरी शिकंजे में लोकतंत्र

भारतीय जनता पार्टी अपने गिरेबान में झांकने के बजाय सोते जागते हर समय कांग्रेस पार्टी के वंशवाद को कोसती रहती है, ख़ासतौर पर नरेन्द मोदी । जबकि हक़ीक़त यह है कि सभी राजनीतिक पार्टियां वंशवाद की पोषक हैं । मतलब साफ़ है कि हर राजनीतिक दल में वंशवृद्धि हो रही है यह अलग बात है कि इस दौड़ में कांग्रेस अब्बल नम्बर पर अपनी पकड़ मजबूत किये हुए है । देश का एक भी ऐसा राज्य नहीं है जहां वंशवादी राज न कर रहे हों ।

वंशवाद को राजतंत्र का सुधरा हुआ रूप कहा जा सकता है । वंशवाद भाई भतीजावाद का जनक होने के साथ ही निकृष्टतम कोटि का आरक्षण भी माना जाता है ।

इतना ही नहीं देश की कम से कम एक दर्जन राजनीतिक पार्टियां ऐसी हैं जिनमें एक ही परिवार की बपौती चल रही है । इस कड़ी में लोकदल, शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेंस, शिरोमणि अकाली दल, बीजू जनता दल, बहुजन समाजवादी पार्टी, समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल, लोक जनशक्ति पार्टी, झारखंड मुक्ति मोर्चा, डीएमके, तेलगुदेशम पार्टी को शामिल किया जा सकता है । इसी तरह देश के चारों खूंट कश्मीर से कन्याकुमारी तक वंशवादी सत्ता की चाशनी में लिपटे हुए हैं । नेहरू – गांधी परिवार की एंट्री केवल कांग्रेस भर में नहीं है । भारतीय जनता पार्टी भी नेहरू – गांधी परिवार से उपकृत है ।

जवाहरलालनेहरू (प्रधानमंत्री), विजयलक्ष्मी पंडित (नेहरू बहिन – सांसद, राजनयिक), कृष्णा हठीसिंह (नेहरू बहिन), इंदिरा गांधी (जवाहर पुत्री – प्रधानमंत्री), उमा नेहरू (इंदिरा चचेरी बहिन – सांसद), अरुण नेहरू (उमा पुत्र – मंत्री), संजय गांधी (इंदिरा पुत्र – सांसद), राजीव गांधी (इंदिरा पुत्र – प्रधानमंत्री), सोनिया गांधी (राजीव पत्नी – सांसद), राहुल गांधी (राजीव पुत्र – सांसद), मेनका गांधी (संजय पत्नी – मंत्री), वरुण गांधी (संजय पुत्र – सांसद) । शेख़ मुहम्मद अब्दुल्ला, बेग़म अकबर अब्दुल्ला (शेख़ पत्नी – सांसद), फ़ारुख अब्दुल्ला (शेख़ पुत्र – मुख्यमंत्री), उमर अब्दुल्ला (फ़ारुख पुत्र – मुख्यमंत्री), बेगम खालिदा शाह (शेख़ पुत्री), ग़ुलाम मोहम्मद शाह (शेख़ दामाद), मुफ्ती मोहम्मद सईद (मुख्यमंत्री, मंत्री), मेहबूबा मुफ्ती (मुफ्ती पुत्री – मुख्यमंत्री), उमा शंकर दीक्षित (सांसद), शीला दीक्षित (मुख्यमंत्री, सांसद, मंत्री, राज्यपाल), सन्दीप दीक्षित (शीला पुत्र – सांसद), बेअंत सिंह (मुख्यमंत्री), गुरुकँवल कौर (बेअंत पत्नी – विधायक), रणजीति सिंह (बेअंत पुत्र – सांसद), तेजप्रकाश सिंह (बेअंत पुत्र – विधायक मंत्री), गुरकीरत सिंह ( विधायक), यादवेन्द्र सिंह (पटियाला राजा), मोहिंदर कौर (यादवेन्द्र पत्नी – सांसद), अमरिंदर सिंह (यादवेन्द्र पुत्र – मुख्यमंत्री), परमजीत कौर (अमरिंदर पत्नी – विधायक, मंत्री, सांसद), रनिन्दर सिंह (अमरिंदर पुत्र – विधायक, सांसद), मालविंदर सिंह (अमरिंदर भाई – विधायक), प्रकाश सिंह बादल (मुख्यमंत्री, सांसद, मंत्री), सुखवीर सिंह (बादल पुत्र – विधायक, उपमुख्यमंत्री), हसिमरत सिंह कौर (सुखवीर पत्नी – सांसद मंत्री), जसविंदर सिंह बराड़ (विधायक मंत्री), मंतर सिंह (बराड़ पुत्र – विधायक), परमजीत कौर ढिल्लो (बराड़ पुत्री), विजयाराजे सिंधिया (सांसद), माधव राव (विजया पुत्र – सांसद मंत्री), ज्योतिरादित्य (माधव पुत्र – सांसद मंत्री), यशोधरा राजे (विजया पुत्री – विधायक मंत्री), वसुंधरा राजे (विजया पुत्री – मुख्यमंत्री), दुष्यंत सिंह (वसुंधरा पुत्र – सांसद), चौधरी चरण सिंह (प्रधानमंत्री ), अजीत सिंह (चरण पुत्र – सांसद , मंत्री ), देवीलाल (उप प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री), ओम प्रकाश चौटाला (देवी पुत्र – मुख्यमंत्री), रंजीत सिंह (देवी पुत्र- सांसद), अजय सिंह चौटाला (ओम पुत्र- विधायक), अभय सिंह चौटाला (ओम पुत्र- विधायक), बंसीलाल (मुख्यमंत्री), सुरेंद्र सिंह (बंशी पुत्र – सांसद), किरण चौधरी ( सुरेन्द्र पत्नी – सांसद ), श्रुति चौधरी ( सुरेंद्र पत्नी – सांसद), रणबीर सिंह महेंद्रा (सुरेंद्र पुत्र – विधायक), भजनलाल (मुख्यमंत्री), चंद्रमोहन (भजन पुत्र – उप मुख्यमंत्री), कुलदीप बिश्नोई (भजन पुत्र – सांसद), रेणुका बिश्नोई (कुलदीप पत्नी – विधायक), रणबीर सिंह हुड्डा (सांसद, मंत्री), भूपिंदर सिंह (रणवीर पुत्र – मुख्यमंत्री), दीपेंद्र सिंह (भूपिंदर पुत्र – सांसद), एच.डी. देवेगौड़ा (प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री), एच.डी. कुमारस्वामी (देवेगौड़ा पुत्र – मुख्यमंत्री), एच डी रेवन्ना (देवेगौड़ा पुत्र – विधायक, मंत्री), वाईएसआर येदुयरप्पा (मुख्यमंत्री), वाई राघवेंद्र (येदुरप्पा पुत्र – सांसद), बी वाई विजेंद्र (येदुरप्पा पुत्र), आरएन सोहनकुमार (येदुरप्पा दामाद), लालू प्रसाद यादव (मुख्यमंत्री, सांसद, मंत्री), राबड़ी देवी (लालू पत्नी – विधायक, मुख्यमंत्री), तेजस्वी (लालू पुत्र – विधायक), साधु (राबड़ी भाई – विधायक, सांसद), सुभाष (राबड़ी भाई – विधायक, सांसद), मीसा भारती (लालू पुत्री),ललित नारायण मिश्र (सांसद ,मंत्री), कामेश्वरी देवी (ललित पत्नी – सांसद), विजय (विधायक), गौरी शंकर राजहंस (करीबी रिश्तेदार, सांसद ), डॉ जगन्नाथ (ललित भाई, सांसद , मुख्यमंत्री), नीतीश (जगन्नाथ पुत्र – विधायक , मंत्री), ऋषि (विजय पुत्र), रामविलास पासवान (सांसद, मंत्री), पशुपति पारस (रामविलास भाई -विधायक, मंत्री), रामचंद्र (रामविलास भाई -सांसद), चिराग (रामविलास पुत्र – सांसद), मुलायम सिंह यादव (मुख्यमंत्री, सांसद, मंत्री), अखिलेश (मुलायम पुत्र – विधायक, सांसद , मुख्यमंत्री), डिंपल यादव (अखिलेश पत्नी – सांसद), धर्मेन्द्र (मुलायम भतीजा -सांसद ), शिवपाल सिंह यादव (मुलायम भाई -विधायक, मंत्री), राम गोपाल यादव (मुलायम भाई – सांसद), खुर्शीद आलम खान (सांसद, मंत्री), सलमान खुर्शीद (आलम पुत्र – सांसद,मंत्री), लुईस खुर्शीद (सलमान पत्नी), शरद पवार (मुख्यमंत्री, सांसद, मंत्री), सुप्रिया सुले (पवार पुत्री – सांसद), अजित पवार (शरद भतीजा – मुख्यमंत्री), मुरली देवड़ा (सांसद मंत्री), मिलिंद (मुरली पुत्र – सांसद, मंत्री), बाल ठाकरे, उद्धव ठाकरे (बाल पुत्र – मुख्यमंत्री), राज ठाकरे (बाल भतीजा), आदित्य ठाकरे (उद्धव पुत्र – विधायक, मंत्री), डीवाई पाटिल (राज्यपाल), सतेज पाटिल (डीवाई भाई- विधायक, मंत्री), गणेश नाईक (सांसद, मंत्री), संजीव (गणेश पुत्र – सांसद), संदीप (गणेश पुत्र – विधायक),

 पीए संगमा (विधायक, सांसद, मंत्री, विधानसभा अध्यक्ष, लोकसभा अध्यक्ष), अगाथा (पीए संगमा पुत्री – विधायक, सांसद, मंत्री), कॉनरोड संगमा (पीएसंगमा पुत्र – विधायक ), एम. करुणानिधि (मुख्यमंत्री), एमके अलागिरी (करूणानिधि पुत्र – विधायक , सांसद, मंत्री), एम के स्टालिन (करूणानिधि पुत्र -उप मुख्यमंत्री), कनिमोझी (करूणानिधि पुत्री – सांसद मंत्री), मुरासोली मारन (करूणानिधि भतीजा – सांसद, मंत्री), दयानिधि मारन (मुरासोली पुत्र – सांसद), नंदमुरी तारक रामाराव या एनटी रामाराव या एनटीआर (मुख्यमंत्री), लक्षमी पार्वती (एनटीआर की दूसरी पत्नी , पार्टी अध्यक्ष),

नंदमुरी हरिकृष्णा (एनटीआर पुत्र -सांसद, मंत्री), नंदमुरी बालकृष्ण (एनटीआर पुत्र – विधायक), दग्गुबति पुरंदरेश्वरी (एनटीआर पुत्री – विधायक, मंत्री), दग्गुबति वेंकटेश्वर राव (एनटीआर दामाद – विधायक, सांसद, मंत्री),

नारा चंद्रबाबू नायडू (एनटीआर दामाद – मुख्यमंत्री), वाईएस राजशेखर रेड्डी (मुख्यमंत्री),

वाईएस विजयम्मा (राजशेखर पत्नी – विधायक), वाईएस जगन मोहन रेड्डी (राजशेखर पुत्र – सांसद, मुख्यमंत्री), वाईएस विवेकानंद रेड्डी (राजशेखर भाई – विधायक, मंत्री), बीजू पटनायक (मुख्यमंत्री), नवीन पटनायक (बीजू पुत्र – मुख्यमंत्री), शिबू सोरेन

(मुख्यमंत्री, सांसद, मंत्री), दुर्गा सोरेन (शिबू पत्नी -विधायक), हेमंत सोरेन (शिबू पुत्र – मुख्यमंत्री), सीता सोरेन (शिबू पुत्री -विधायक),

दिग्विजय सिंह (मुख्यमंत्री , सांसद, मंत्री),

जयवर्धन सिंह (दिग्विजय पुत्र – विधायक, मंत्री)

भारत का दुनिया के लोकतांत्रिक देशों में विशिष्ट स्थान है । इसके बावजूद विडंबना यह है कि लोक और तंत्र के बीच सामंजस्य का अभाव स्पष्ट दिखता है । संसद, विधानसभाओं में नाते रिश्तेदारों की भरमार बनी रहती है ।

नेहरू – गांधी, यादव, सिंधिया, ठाकरे, बादल, पटनायक, करूणानिधि सहित अनेक परिवारों ने राजनीतिक दलों में अपना वर्चस्व कायम कर रखा है । वंशानुगत के भीतर भी हाइपर वंशानुगत शामिल हैं । वंशानुगत और गैर वंशानुगत के बीच आर्थिक रूप से भी जमीन आसमान का अंतर है ।

राजनीति में जहां वंशानुगत राजनीतिज्ञों को मूर्त, अमूर्त संसाधन आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं वहीं आर्थिक संसाधनों के साथ ही वंशानुगत राजनीतिक नेटवर्क का फ़ायदा भी मिलता है । हर्र लगे न फिटकिरी रंग चोखा की तर्ज पर विरासत में मिलने वाला क्षेत्र, समाज में पारिवारिक दबदबा, ख़ानदानी, जातिगत समर्थन सत्ता तक की पहुंच को आसान बना देता है ।

यहीं से शुरू होता है साला में तो साहब बन गया का सफ़ऱ । करिश्माई नेता बनते ही वंशवादी दलगत संरचनात्मक राजनीतिक प्रक्रिया से ऊपर उठ जाता है । उस पर दलगत अनुशासन, वरिष्ठता, नियम क़ायदे लागू नहीं होते । वहीं आम राजनीतिक कार्यकर्ताओं को बंधुआ मजदूरी के सभी क़ायदे क़ानून का सख़्ती से पालन करना पड़ता है ।

संयोगवश यदि किसी आम राजनीतिक कार्यकर्ता ने सारी अर्हतायें पूरी कर भी ली तो उसे सदा इस बात का भय बना रहता है कि क्या पता कब कौन ख़ानदानी नेता उसका सारा किया धरा गुड़ गोबर कर दे । यही कारण है कि वंशवादियों की वक्रदृष्टि की छाया में आम कार्यकर्ताओं की यही व्यथा है कि सालों साल झोला ढोने, पोस्टर बैनर लगाने, जिन्दाबाद मुर्दाबाद करने के बाद भी मौका मिलने की संभावना बहुत कम रहती है ।

 

अश्वनी बड़गैंया, अधिवक्ता

स्वतंत्र पत्रकार

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close