उत्तरप्रदेश

महिलायें घर की चाभी है महिलायें प्रत्येक क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रही है ,रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

महिलाओं के उत्थान एवं सशक्तिीकरण के लिए सरकार कृतसंकल्प- मंत्री, श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह

प्रयागराज/अतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सोमवार को सीएवी इण्टर कालेज के प्रांगण में मंत्री श्री सिद्धार्थ सिंह जी ने दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। मंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी और मुख्यमंत्री जी महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रही है। हमारे घर की चाबी महिलाओं के हाथ में होती है। कितने गर्व का विषय है कि प्रयागराज की चाबी महापौर अभिलाषा गुप्ता जी के पास है, राज्य की चाबी महामहिम आनंदीबेन पटेल जी के पास है और मोदी जी ने पूरे देश की अर्थव्यवस्था की चाबी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के रूप में दे रखा है। बेटिया ही भारत का भविष्य है। यह मिशन शक्ति शारदीय नवरात्र से आरम्भ होकर वासंतिक नवरात्र तक चलेगा। महिलाओं की सुरक्षा सम्मान व सशक्तिीकरण के लिए प्रदेश सरकार संकल्पित है। देश में महिलाओं के प्रति, महिला के सम्मान के प्रति जो एक रोग फैल रहा था, ज्यादातर भ्रूण हत्याएं जन्म से पहले बड़ी तेजी से बढ़ रही थी।उसको रोकने के कारगर कदम और योजनाओं का शुभारंभ किया गया। आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कन्या सुमंगला योजना का शुभारंभ किया है जिसमें बच्चियों के जन्म पर बेटी के जन्म पर ₹ 2000 कक्षा प्रथम में ₹ 2000 कक्षा 6 में ₹2000 कक्षा 9 में ₹ 3000 कक्षा 12 में डिप्लोमा के तकनीकी शिक्षा लेने पर बेटियों को ₹5000 देगी, जिससे बेटियों की पढ़ाई में कहीं व्यवधान न हो और उनका टीकाकरण भी सही ढंग से हो सके। सरकार यह भी नीति है कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ में जिस महिला की 2 जुड़वा बेटी होने के बाद तीसरी बेटी होती है तो उसको भी सरकार 14 वर्ष तक खाते में ₹1000 प्रति माह जमा करती है और 21 वर्ष होने के पश्चात छः लाख 60 हजार रुपए बेटियों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि यह सरकार की नीति है कि बालिकाओं की प्रशिक्षित बनाया जाये। प्रत्येक जनपद में तीन अस्पताल चिन्हित किये जा रहे है, जिसमें महिलाओं को कोविड-19 का उपचार किया जायेगा। महिलायें राजनैतिक दृष्टि से भी प्रबल है। महिलायें हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है। महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रदेश सरकार ने महिला सुरक्षा हेल्प लाइन नम्बर 1090 जारी किया है। उन्होंने बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं योजना, सुकन्या समृद्धि योजना की तारीफ करते हुए कहा कि शौचालय, आवास व सरकारी योजनाओं में महिलाओं को प्राथमिकता दी जायेगी। बेटियों को पिता की सम्पत्ति में हिस्सेदारी का पूरा हक दिलाया जायेगा। प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को रजिस्ट्रीय शुल्क में छूट देने का प्रावधान किया गया है। सरकारी नौकरियों में 20 प्रतिशत आरक्षण दिया जा रहा है। महिलाओं को स्वावलम्बन बनाने के लिए शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में स्वंय सहायता समूहों के माध्यम से उनकी आजीविका सम्वर्धन हेतु वृहद अभियान चलाया जा रहा है। सरकार द्वारा कृषि यंत्रों पर महिला कृषकों को 10 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जा रही है। सरकार द्वारा प्रत्येक जिला मुख्यालयों में महिलाओं को चिकित्सीय सहायता, पुलिस सहायता, विधिक सहायता, स्वरोजगार प्रशिक्षण, आश्रयगृह सुविधायें देने के लिए कृतसंकल्पित है। इसी के साथ ही महिलाओं के लिए फोन नम्बर 181 पर भी सहायता उपलब्ध करायी जायेगी। इस अवसर पर विधायक बारा-श्री अजय भारती, विधायक शहरी उत्तरी श्री हर्षवर्धन वाजपेयी, श्रीमती रेखा सिंह, महिला आयोग की सदस्य ऊषारानी, अनीता सचान, एडीजी जोन प्रेम प्रकाश, मण्डलायुक्त श्री संजय गोयल, आईजी श्री के0पी0 सिंह, जिलाधिकारी श्री भानु चन्द्र गोस्वामी, डीआईजी/एसएसपी श्री सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी, मुख्य विकास अधिकारी श्री शिपू गिरि सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती रंजना त्रिपाठी एवं डाॅ0 प्रभाकर त्रिपाठी द्वारा किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close