उत्तरप्रदेश

राम कथा के पाठ व श्रवण से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। आचार्य शांतनु महाराज। ,रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

कादीपुर में 7 दिवसीय राम कथा।

भूखमुक्त भारत संकल्प भईया जी का दाल-भात।

कादीपुर, सुल्तानपुर। भईया जी का दाल-भात परिवार द्वारा सुल्तानपुर के कादीपुर तहसील अंतर्गत मां सती चौरा (गजेंद्रपुर) में 7 दिवसीय श्रीराम कथा का आयोजन किया गया है जोकि 5 से 11 मार्च 2021 तक चलेगा। इस श्रीराम कथा आयोजन का उद्देश्य आध्यात्मिक उन्नति के साथ लोगों को भूखी मानवता की सेवा हेतु प्रेरित करना है।

जानकारी के अनुसार भूखी मानवता की सेवा में समर्पित भईया जी का दाल–भात परिवार के सहयोगार्थ श्री रामकथा के प्रथम दिवस पर पूज्य आचार्य शांतनु जी महाराज ने कहा कि भगवान की असीम कृपा से ही हम सब सन्मार्ग की ओर प्रेरित होते है माता पार्वती के शंका समाधान करते हुए महादेव ने बताया कि देवी ईश्वर सगुण भी है और निर्गुण भी भक्त जिस रूप में चाहता है प्रभु उसी रूप में भक्तों को दर्शन देते है। भईया जी का दाल–भात परिवार पिछले तीन वर्षो से भूखी मानवता की सेवा में प्रयागराज स्थित लेटे हुए हनुमान जी मंदिर के सामने हजारों जरूरतमंद लोगों को प्रतिदिन भोजन करा कर भूखी मानवता की सेवा कर रही है । मानस की महिमा बताते हुए पूज्यश्री ने कहा कि ये रामायण कल्पवृक्ष के समान है इसको गाने वाला जो चाहता है वो उसको मिलता है परंतु शर्त है कि इसे निर्मल मन से गाया जाय। आज की कथा में भईया जी का दाल-भात परिवार के संस्थापक व संचालक अतुल कुमार गुड्डू मिश्र, जिला संघ चालक (जौनपुर) डा. विवेक सिंह जी , कार्यक्रम संयोजक गौरव सिंह ‘वत्स’ , फतेह बहादुर सिंह जी , लक्ष्मी गुप्ता जी , सत्य नारायण पाण्डेय जी अन्य विशिष्ट अतिथि एवं श्रद्धालु जन उपस्थित रहें। भगवान शिव के विवाह की कथा सुनाते हुए पूज्य महाराज जी ने कहा कि शिव और पार्वती श्रद्धा और विश्वास के प्रतीक है इसीलिए रामकथा में पहले शिव और पार्वती की कथा है पूज्य महाराज जी ने भगवान शिव की बारात का दर्शन कराते हुए कहा कि उनकी बारात में भूत प्रेत भी शामिल थे परंतु वे भी बहुत ही संयमित थे परांठे आज की क्या स्थिति है हम सब को इस पर विचार करना चाहिए साथ ही साथ महाराज जी ने समाज मे व्याप्त अनेक कुरीतियो पर कुठाराघात किया।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close