प्रयागराज

माघी पूर्णिमा के स्नान पर्व पर लाखों श्रद्धालुओं ने संगम के पवित्र शीतल जल में डुबकी लगाई ,रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज नैनी

कलयुग की कलम

प्रयागराज माघ मेला में माघी पूर्णिमा के स्नान पर्व पर सुनहरे मौसम के बीच पवित्र संगम के शीतल जल में लाखो श्रद्वालुओें ने पुण्य की डुबकी लगायी। माघी पूर्णिमा स्नान पर्व के साथ ही कल्पवास का संकल्प पूर्ण हुआ तथा कल्पवासी अध्यात्मिक उर्जा एकत्र कर, वर्षभर के लिये अपने घर को लौटते दिखायी दियें। श्रद्वालुओं/स्नानार्थियों के उत्साह के बीच मौसम ने भी खूब साथ दिया। माघमेला के पंचम स्नान माघी पूर्णिमा पर श्रद्वालुओ/स्नानार्थियों का संगम स्नान का सिलसिला शुभ मुहूर्त के साथ प्रारम्भ हुआ जो दिनभर अनवरत जारी रहा। श्रद्वालुओं/स्नानार्थियों में संगम स्नान को लेकर काफी उत्साह देखा गया, इस अवसर पर हेलीकाप्टर के माध्यम से श्रद्वालुओं पर पुष्प वर्षा की गयी जो श्रद्वालुओ/स्नानार्थियों के बीच आकषर्ण का केन्द्र रही इस दौरान श्रद्वालुओं के सुगम आवागमन व सुरक्षित स्नान हेतु व्यापक पुलिस प्रबन्ध किये गये। श्रद्वालुओं के सुरक्षा के दृष्टिगत सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर नागरिक पुलिस, यातायात पुलिस, घुड़सवार पुलिस, महिला पुलिस कर्मी, अग्निशमन दल, पीएसी के जवान, एटीएस के कमाण्डों व आरएएफ की टीमें व्यवस्थापित किये गये। पवित्र संगम में जल पुलिस के साथ मोटर बोट व गोताखोरो की नियुक्ति कर स्नानार्थियों/श्रद्वालुओं की सुरक्षा के कड़े प्रबन्ध किये गये। इस दौरान स्टीमर के माध्यम से संगम क्षेत्र का लगातार निरीक्षण किया गया, तथा एसडीआरएफ/फ्लड कम्पनी के जवानों द्वारा घाटों/जल पर लगातार सतर्क दृष्टि रखी गयी। सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे व ड्रोन के माध्यम से चप्पे चप्पे पर नजर रखी गयी। ”पब्लिक एड्रेस सिस्टम“ के माध्यम से सभी श्रद्वालुओं से लगातार अनुरोध किया गया कि सावधानी पूर्वक स्नान करें किसी भी संदिग्ध वस्तु को हाथ न लगाये, मेले की सुरक्षा व स्वच्छता में हमारा सहयोग करे, तथा कोविड-19 का संक्रमण रोकने व बचाव हेतु कोविड प्रोटोकाल का पालन अवश्यक करें। मेले में आने वाले स्नानार्थियों/श्रद्वालुओं को कोई असुविधा न हो इसके दृष्टिगत मेला क्षेत्र में ही पॉच स्थानों पर पार्किग की समुचित व्यवस्था की गयी। जिसके माध्यम से यह प्रयास किया गया कि संगम में आने वाले श्रद्वालुओं को स्नान घाट तक पहुचने में न्यूनतम पैदल चलना पड़े। इस अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक कवीन्द्र प्रताप सिंह, पुलिस अधीक्षक मेला डॉ राजीव नरायण मिश्र व नोडल पुलिस अधिकारी श्री आशुतोष मिश्र लगातार मेला क्षेत्र में ही रहकर सभी व्यवस्थाये सुनिश्चित कराते रहे। पुलिस अधीक्षक माघमेला डॉ राजीव नारायण मिश्र द्वारा निरीक्षण के दौरान समस्त पुलिस कर्मियों की कुशलता ली गयी तथा उनका उत्साहवर्धन किया गया तथा कमाण्ड सेन्टर के माध्यम से लगातार मेला क्षेत्र पर सतर्क दृष्टि रखी गयी। मेला क्षेत्र की सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही सेवा का भाव भी पुलिस कर्मियों के व्यवहार से दिखायी दिया, सकुशल व सुरक्षित स्नान सम्पन्न कराने हेतु पुलिस के आला अफसर लगातार मेला क्षेत्र में डटे रहें, तथा वरिष्ठ अधिकारीयों द्वारा मेला क्षेत्र में आये हुये स्नानार्थियों/श्रद्वालुओं से लगातार उनका कुशलक्षेम पुछा गया। स्नान के बाद लोगो ने मेले में लगी प्रदशर्नी का भी लुत्फ उठाया। स्नानार्थियों में धर्म आस्था के प्रति काफी उत्साह देखने को पाया गया तथा मेले की व्यवस्था देखकर देश के कोने-कोने से आये श्रद्वालुओं ने अत्यन्त प्रसन्नता व्यक्त की। माघी पूर्णिमा स्नान के उपरान्त कल्पवास का संकल्प पूर्ण कर विभिन्न प्रदेशो से आये कल्पवासी, मॉ गंगा मईया से अगले साल फिर आने का आशीष लेकर अपने घर को प्रस्थान किये, जिसके दृष्टिगत मेला क्षेत्र से बाहर जाने वालो मार्गो पर पुलिस द्वारा विशेष सतर्कता बरती गयी, ताकि कल्पवासीयों को कोई असुविधा न हो। पुलिस बल के अथक प्रयासों के साथ प्रशासनिक अधिकारीयों का सहयोग प्रशंसनीय रहा जिसके परिणाम स्वरूप माघमेला का पंचम स्नान पर्व माघी पूर्णिमा सकुशल सम्पन्न हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close