छत्तीसगढ़

क्षेत्र के मछली पालन एवं मछली व्यवसाय से जुड़े हुए व्यवसायी एवम भाजपा कार्यकर्ता आनंद ताम्रकार ने मछुआरा समुदाय को दिग्भर्मित करने वाले राहुल गांधी जी के बयान के संदर्भ में “जैसा कि राहुल गांधी जी ने कोल्लम/पांडुचेरी में मछुआरा समूह/समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी गवर्मेंट को मत्स्य पालन के लिए अलग मंत्रालय बनाया जाना चाहिए” 

कलयुग की कलम

क्षेत्र के मछली पालन एवं मछली व्यवसाय से जुड़े हुए व्यवसायी एवम भाजपा कार्यकर्ता आनंद ताम्रकार ने मछुआरा समुदाय को दिग्भर्मित करने वाले राहुल गांधी जी के बयान के संदर्भ में “जैसा कि राहुल गांधी जी ने कोल्लम/पांडुचेरी में मछुआरा समूह/समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी गवर्मेंट को मत्स्य पालन के लिए अलग मंत्रालय बनाया जाना चाहिए”

मैं राहुल गांधी जी को बताना चाहता हूँ कि माननीय मोदी गवर्नमेंट ने 05/02/2019 में नोटिफिकेशन नंबर-1/21/21/2018-Cab के तहत Department of Fisheries, Animal Husbandry & Dairying का गठन किया जा चुका है। देश के सांसद होने के बावजूद श्री राहुल गांधी जी को इस मंत्रालय के बारे में जानकारी न होना उनकी राजनीतिक अज्ञानता को दर्शाता हैं ।

सर्वप्रथम छत्तीसगढ़ राज्य में जहां कांग्रेस की सरकार है मछुआरा समुदाय के लिए अलग से मंत्रालय बनाये और उनको मछुआ समुदाय को भड़का कर राजनीतिक रोटी सेकने का कार्य नही करना चाहिए। मैं छत्तीसगढ़ कॉन्ग्रेस सरकार से ये मांग करता हूँ कि छत्तीसगढ़ में मछुआ समुदाय के लोगों को समुचित सुविधा, आवास एवं व्यापार वृद्धि के लिए मत्स्य पालन मंत्रालय का गठन तत्काल किया जाना चाहिए , मत्स्य पलकों का अलग पंजीयन होना चाहिए एवं केंद्र सरकार द्वारा संचालित प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का लाभ राज्य के मत्स्य पालकों को मिल सके। जो कि छत्तीसगढ़ के मत्स्य पालको का अधिकार है लेकिन कांग्रेस की भूपेश सरकार होने के कारण मत्स्य पालक भाइयों का हक नहीं मिल रहा है ।

  विरोध की राजनीति में अनर्गल बयान देने से श्री गांधी को बचना चाहिए एवं विषय की पूरी जानकारी होने पर ही टिप्पणी करना चाहिए।

कोरिया – राजेश सिन्हा की खास रिपोर्ट

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close