राष्ट्रीय

जो महिलायें अपनी शक्ति को पहचान लेती है, सफलता उनकी कदम चूमती हैं।

कलयुग की कलम

जो महिलायें अपनी शक्ति को पहचान लेती है, सफलता उनकी कदम चूमती हैं।

कलयुग की कलम

गरीबों की मसीहा सुप्रसिद्ध समाज सेविका अंजलि शुक्ला लोगों के लिए एक मिसाल हैं जहां कोरोना काल में लोग खुद के लिए परेशान है वहीं अंजलि शुक्ला जी ने झुग्गियों में रहने वाले 700 लोगों को अप्रैल से दिसंबर तक उनकी हर छोटी से बड़ी चीजों को पूरा करती रही। मैं बता दूं कि अंजलि शुक्ला जी लगभग 12 सालों से समाज सेवा करती आ रही हैं। जिसमें ट्रेफिक अवेयरनेस,युवाओं और बच्चों के लिए खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन करना, पौधारोपण, यमुना सफाई, स्वच्छता अभियान, गरीबों को समय-समय पर कपड़े बांटना,युवाओं को नौकरी दिलवाना, गरीबों का राशन कार्ड, पहचान पत्र, आधार कार्ड, लेबर कार्ड बनवाना, वृद्धा एवं विधवा महिलाओं का पेंशन बनवाना, गरीब बच्चों को पहली से दसवीं तक मुफ्त ट्यूशन देना, महिला सशक्तिकरण के लिए पार्लर, सिलाई का कोर्स करवाकर उन्हें रोजगार दिलवाना,परिवार से पीड़ित महिलाओं के लिए लड़ना उनका अधिकार दिलवाना ऐसे अनेकों कार्य कई राज्यों में करती आ रही हैं।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close