उत्तरप्रदेश

लोकतंत्र को धनतंत्र बनने से रोकने मे युवा विवेकानन्द से लें प्रेणा (लोक स्वाभिमान मंच) रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज नैनी

कलयुग की कलम

प्रयागराज स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती पर लोक स्वाभिमान मंच की ओर से विज्ञान परिषद मे जुटे बुद्धिजीवियों ने युवाओं को लोकतंत्र और युवा वर्ग विषय पर सभा में लोकतंत्र को धनतंत्र बनने से रोकने मे महती भूमिका निभाने का आहृवान करते हुए विभिन्न पहलूओं पर चर्चा की।मंच के संयोजक शिवचरण यादव द्वारा आयोजित गोष्ठी में डॉ आर सी आर यादव ने अपने अध्यक्षयी भाषण में युवाओं मे उर्जा भरते हुए अंग्रेज़ सरकार को देश से भगाने वाले महापुरुषों की तरहा अपनी युवा शक्ति को पहचानते हुए महती भूमिका निभाने को प्रेरित किया।मुख्य वक्ता लोक सवाभिमान मंच के राष्ट्रीय संयोजक शिवचरण यादव ने युवकों को स्वामी विवेकानन्द की युवाओं की शक्ति और मूलपूंजि समझते हुए उनके अपनी निधि के रुप में संजो कर रखना होगा।लोकतंत्र और युवा पर बोलते हुए विवेक,संयम और इमानदारी को लोकतंत्र का आधार बताते हुए आदर्श वाक्य सत्य मेव जयते के सम्मान को बचाए रखने को जाग्रत होने का आहृवान किया।सभा मे श्री आर के सिंह,वी पी कुशवाहा,जे एन यादव,आशीष पाल,जिज्ञांशू यादव,गौरव वर्मा,विवेक यादव,काशान सिद्दीकी,मो०सऊद,रंजीत यदुवंशी आदि ने अपने ओजस्वी विचारों से युवा को मार्गदर्शित किया।लछमण यादव के संचालन मे हुए कार्यक्रम में सबसे पहले स्वामी विवेकानन्द जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की गई।सभी वक्ताओं ने स्वामी विवेकानन्द को युवाओं का प्रेणास्रोत और आदर्ष बताया।कार्यक्रम में गंगाराम बघेल,योगेन्द्र वर्मा,जंगबहादुर सिंह यादव,प्रतिमा रावत,आर के सिंह,हसीब अहमद,सऊद अहमद,रुपनाथ यादव,सै०मो०अस्करी,मिथिलेश कुमार,रमाकान्त शर्मा,आदित्य प्रकाश सिंह,राजीव गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close