उत्तरप्रदेश

ज्ञान योग दिवस के रूप में मनाया गया महर्षि महेश योगी का 104 वी जयंती रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज नैनी

कलयुग की कलम

प्रयागराज नैनी के दूरवणी नगर स्थित महर्षि विद्या मंदिर स्कूल में परम पूज्य महर्षि महेश योगी जी की जयंती ज्ञान योग दिवस के रूप में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। कार्यक्रम का शुभारंभ विद्यालय की प्रधानाचार्य श्रीमती पूजा चंदोला ने वैदिक मंत्र उच्चारण के साथ गुरु पूजन दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम को गति प्रदान किया। कार्यक्रम में विद्यालय के छात्राओं द्वारा गणेश वंदना गुरु वंदना गीत एवं भजन प्रस्तुत किए गए छात्रों ने अपने भाषण में महर्षि जी की प्रमुख उपलब्धियों एवं भावातीत ध्यान का विस्तृत रूप से व्याख्यान किया गया वहीं छात्रों ने बांसुरी वादन लोगों के समक्ष प्रस्तुत कर जनसमूह को मोहित कर दिया साथ ही शिक्षकों द्वारा भावतीत ध्यान एवं योग साधना करवाया गया इसके उपरांत छात्रों को इससे होने वाले लाभों के बारे में भी अवगत कराया गया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज का दिन महर्षि जी के सभी संकल्पों को पूरा करने का पावन अवसर है ।ज्ञान योग दिवस के शुभ अवसर विद्यालय समूह के राष्ट्रीय अध्यक्ष ब्रहमचारी डॉ गिरीश चंद वर्मा जी ने शुभ संदेश दिया साथ ही सभी के प्रति हार्दिक शुभकामनाएं दिया । साथ ही इस शुभ अवसर पर अध्यक्ष गिरीश चंद्र वर्मा ने परम पूज्य महर्षि जी के समस्त उपलब्धियों को अपने संदेश द्वारा लोगों तक पहुंचाया साथ ही विद्यालय की प्रधानाचार्य ने अध्यक्ष जी द्वारा संरक्षित संदेश को पढ़ते हुए कहा कि विश्वव्यापी उपलब्धियों के प्रतीक वेदभूमि भारत के महान सपूत एवं संत परम पूज्य महर्षि महेश योगी जी का हमेशा मानना था कि हम सभी को अपने परिवार अपने समाज राष्ट्र एवं विश्व की एक प्रबुद्ध एवं क्रमबद्ध इकाई बनाना चाहिए। ज्ञान योग दिवस के इस अवसर पर विद्यालय के छात्र छात्राओं ने सुंदर लेख एवं स्वनिर्मित सुसज्जित महर्षि जी का चित्र प्रस्तुत किया कार्यक्रम की अंतिम कड़ी में प्रधानाचार्य श्रीमती पूजा चंदोला जी ने सभी छात्र एवं शिक्षकों को ज्ञान योग दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि वर्तमान में चारों ओर व्याप्त कठिनाइयों को देखते हुए हमें प्रबुद्ध एवं चेतन आयुक्त व्यक्तियों के समूहों की आवश्यकता है। मासी जी ने इस लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु हमें भावातीत ध्यान सिद्धि कार्यक्रम एवं योगिक उड़ान की आधुनिक तकनीकें प्रदान की हैं। साथ ही कहा कि परम पूज्य गुरुदेव महर्षि जी के देवीय आशीर्वाद से हम सभी ना केवल वर्तमान महामारी द्वारा निर्मित कठिनाइयों एवं तनाव को दूर करने में सफल होने के साथ-साथ भविष्य में भी प्रगति करना जारी रखेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close